शैंपू करने के फायदे और नुकसान क्‍या-क्‍या हैं|shampoo ke nuksaan baalo par

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

शैंपू करने के फायदे और नुकसान क्‍या-क्‍या हैं shampoo ke nuksaan baalo par हम सभी के दिमाग में कभी न कभी यह सवाल जरूर आया होगा कि जो शैंपू हम प्रयोग कर रहे हैं क्या वह हमारे लिए एकदम सही है? या फिर टीवी में जो शैंपू का नया विज्ञापन आ रहा है क्यों ना उसे ही ट्राई किया जाए…? क्या है Best hair shampoo in Hindi बालों के लिए बेस्ट शैम्पू ?

तो आइए शैंपू से जुड़े हुए सवालों के जवाब हम आपको देते हैं।

पहले थोड़ा पीछे चलते हैं, ज्यादा नहीं पर चार-पाँच दशक पीछे चलें तो याद आता है वह समय जब बालों को धोने के लिए आँवला, रीठा और शिकाकाई आदि का प्रयोग हमारे समाज में बहुत प्रचलित था। इसके लिए इन जड़ीबूटियों को पानी में उबालकर छानते थे और फिर इस छने हुए पानी से बालों को धोते थे।

कहीं-कहीं काली मिट्टी का भी प्रयोग होता था। पहाड़ों में भीमल पेड़ की छाल का भी प्रयोग बालों को धोने के लिए करते थे। पहले के समय में हम ये सब प्रयोग कर सकते थे पर आज हमारे पास इतना समय नहीं है ।

से भी पढ़ें – होममेड शैंपू कंडीशनर घर पर कैसे बनायें homemade shampoo in Hindi

आज से लगभग 15-20 साल पहले सुविधाएँ बढ़नी शुरू हो गईं और फलस्वरूप धैर्य घटना शुरू हो गया, अब कैमिकल वाले शैंपू के दौर ने जोर पकड़ लिया जिससे बाल धोना बहुत आसान हो गया।अब तुरंत शैम्पू निकाल के बालों में लगाया और 5 मिनट में बाल धूल गए। बालों को धोने से बालों के स्वास्थ्य का जो लाभ मिलता था; अब शैंपू से धोने पर अब ये नहीं मिलता है ।

शैंपू करने के फायदे और नुकसान क्‍या-क्‍या हैं|shampoo ke nuksaan baalo par
shampoo

बाजार के कैमिकल शैम्पू के हानिकारक रहस्य shampoo ke nuksaan baalo par

अभी बाजार में मुख्य रूप से दो तरह के शैंपू उपलब्ध हैं। एक तो पूरी तरह कैमिकल से बने हुए शैंपू और दूसरे शैंपू जो हर्बल शैंपू के नाम से बेचे जाते हैं। हर्बल शैंपू के बारे में बहुत से लोगों को भ्रम रहता है कि यह पूरी तरह जड़ीबूटियों से बनाए जाते हैं, पर यह सच नहीं है। हर्बल शैंपू भी कैमिकल बेस्ड बनते हैं। बस केवल बहुत थोड़ी-सी मात्रा में उसमें जड़ीबूटियों का एक्सट्रेक्ट डालते हैं।

जड़ीबूटियों के यह एक्सट्रेक्ट इतनी कम मात्रा में डाले जाते हैं कि इनका कोई विशेष लाभ हमारे बालों को प्राप्त नहीं हो पाता है। इसलिए हर्बल वाला भ्रम अपने दिमाग से निकाल देना ही अच्छा है। अब बात करते हैं शैंपू में इस्तेमाल होने वाले कैमिकल्स की।

इसे भी पढ़ें –अगर आपको भी अपनी इम्युनिटी बढ़ानी है तो इन्हे अपने डाइट में शामिल ज़रूर करें | Boost Your Immunity

सोडियम लॉरेल सल्फेट यानी SLS  (sodium lauryl sulphate) shampoo ke nuksaan baalo par

कैमिकल्स के हिसाब से देखें तो शैंपू फिर दो तरह के होते हैं- एक तो वे शैंपू जोकि सोडियम लॉरेल सल्फेट यानी SLS  (sodium lauryl sulphate) से बने होते हैं। यह शैंपू बालों को काफी नुकसान पहुंचाते हैं। इसलिए शैंपू की बॉटल पर लिखे घटकों (इंग्रीडिएंट्स) को ध्यान से पढ़ने की आदत डाल लीजिए और यदि उसमें सोडियम लॉरेल सल्फेट लिखा हुआ दिखाई दे तो समझ लीजिए कि यह शैंपू बालों के लिए बिल्कुल भी अच्छा नहीं है। यह बात याद रखें कि इस SLS का प्रयोग गैराज की सफाई करने के लिए किया जाता है।

और लंबे समय तक प्रयोग करने से यह बालों के लिए नुकसान दायक होता है। SLS युक्त शैंपू के अलावा जो और शैंपू होते हैं वह कुछ बेहतर और थोड़े महँगे कैमिकल्स से बनते हैं। उनका प्रयोग ही आजकल ज्यादा प्रचलित है।

इसे भी पढ़ें –मुल्तानी मिट्टी के 5 फायदे | जानिए त्वचा के लिए मुल्तानी मिट्टी के जबरदस्त फायदें

थोड़ा और जानिए shampoo ke nuksaan baalo par

इतनी जानकारी के बाद और आगे बढ़ने से पहले आपको कुछ याद दिलाते हैं। जरा याद कीजिए लगभग हम सभी ने अपने जीवन में कोई ना कोई ऐसा व्यक्ति कभी ना कभी जरूर देखा होगा जो कपड़े धोने वाले साबुन से अपने बाल धोता होगा पर ना ही उसके बाल जल्दी सफेद हुए और ना ही झड़े (वैसे… आप ऐसा मत करिएगा)।

आपके मन में यह सवाल जरूर आता होगा कि आखिर यह क्या चक्कर है!

इसका जवाब यह है कि जब सिर की त्वचा को एक ही तरह के कैमिकल से रोजाना साफ किया जाता है तो धीरे-धीरे त्वचा को उस कैमिकल की आदत पड़ जाती है और एक बार आदत पड़ जाने पर फिर वह त्वचा और बालों को कोई नुकसान नहीं पहुंचाता है। इसे अनुकूलन भी कह सकते हैं।

इसे भी पढ़ें –निम्बू की पतियों के फायदे | nimbu ki patti ke fayde

विज्ञापनों का मायाजाल

शैंपू करने के फायदे और नुकसान क्‍या-क्‍या हैं|shampoo ke nuksaan baalo par

शैंपू इस्तेमाल करने वाले लोगों के साथ दिक्कत तब शुरू होती है, जब नए-नए विज्ञापन देखकर लोग भ्रमित हो जाते हैं और बार-बार शैंपू बदलते रहते हैं। जब एक बार हमारे सिर की त्वचा किसी शैंपू के हिसाब से खुद को ढाल लेती है तब ऐसे में बार-बार नए-नए शैंपू के प्रयोग से हमारे सिर की त्वचा और बालों की खुद को ढाल लेने की क्षमता कमजोर पड़ जाती है और बालों की जड़ें कमजोर होने लगती हैं और बाल झड़ने लग जाते हैं तो फिर हम अपने बालों के लिए किसी एक सही शैंपू का चुनाव कैसे करें?

जानिए क्या है? बेस्ट Best hair shampoo in Hindi

तो आइए अब इस सबसे अहम सवाल का जवाब ढूंढ़ते हैं। अब तक आप यह तो समझ ही चुके होंगे कि, शैंपू में मुख्यतः कैमिकल ही होते हैं और यह भी कि, शैंपू हमारे बालों के लिए कोई फायदेमंद चीज तो बिल्कुल भी नहीं है। हाँ… यह बालों को धोने का एक आसान तरीका है… बस। अब आप जरा अपनी आँखें बंद कीजिए और सोचिए कि अब तक आपने जितने शैंपू इस्तेमाल किए हैं उनमें से आपके बालों को सबसे कम नुकसान किस शैंपू से हुआ है।

जिस शैंपू से आपके बालों को सबसे कम नुकसान पहुंचा है बस वही शैंपू आपको प्रयोग करना चाहिए परंतु यदि पहले प्रयोग किए गए किसी भी शैंपू से आप संतुष्ट नहीं हैं, तो एक बार अपने बालों की प्रकृति (शुष्क या तैलीय) के अनुसार किसी नये शैंपू का प्रयोग करके देख सकते हैं। यहाँ यह भी याद रखना जरूरी है कि यदि आपके बालों को SLS युक्त शैम्पू की आदत पड़ ही गई है तो ही आप उसे इस्तेमाल करें पर मात्रा का ध्यान रखें।

इसे भी पढ़ें –अगर आपको भी अपनी इम्युनिटी बढ़ानी है तो इन्हे अपने डाइट में शामिल ज़रूर करें | Boost Your Immunity

बालों को शैंपू करने का सही तरीका shampoo karne ka sahi tarika

अधिक मात्रा में शैंपू का प्रयोग ना करें और हाँ… अब बार-बार नए-नए शैंपू वाले खेल को भी बंद कर देना ही ठीक रहेगा shampoo ke nuksaan baalo par।

एक बात और…. शैम्पू का प्रयोग करते समय एक डिब्बे में थोड़ा-सा शैम्पू और पानी मिलाकर झाग बना लें फिर सिर पर प्रयोग करें। डायरेक्ट शैम्पू को बालों में ना लगाएँ। एक बात और… फिल्मों या सिनेमा में काम करने वाले जो कलाकार अपने सुंदर बालों के साथ दिखाई पड़ते हैं, उनके बारे में शायद एक बात बहुत को नहीं पता होगी वह यह कि किसी फिल्मी कलाकार अपने बालों को सुंदर और स्वस्थ बनाए रखने के लिए सिर्फ किसी शैंपू के भरोसे नहीं रहते।

घर जाने के बाद वे अपने सिर पर कोई-न- कोई प्राकृतिक तेल खूब अच्छी तरह से लगाते हैं।इसलिए जो भी शैंपू आपके लिए ठीक हो उसे इस्तेमाल करें, लेकिन बालों को स्वस्थ रखने के लिए उन्हें तेल का पोषण भी अवश्य दें।

इसे भी पढ़ें –मुल्तानी मिट्टी के 5 फायदे | जानिए त्वचा के लिए मुल्तानी मिट्टी के जबरदस्त फायदें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *