Monsoon skin care Hindi मानसून स्किन केयर

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

बरसात का मौसम सबका पसंदीदा मौसम होता है। क्योंकि गर्मी से परेशान सभी को ये काफी रहत पहुँचता है। फिर चाहे पेड़ पौधें हों या इंसान। सभी के लिए बारिश का मौसम काफी रहत देने वाला होता है। लेकिन ऐसे में Monsoon skin care Hindi भी बहुत करनी पड़ती है।

क्यों के ऐसे मौसम में संक्रमण और बिमारियों का खतरा सबसे ज्यादा होता है।

स्किन सम्बन्धी समस्याएं Monsoon skin care Hindi

गर्मी के मौसम से भी ज्यादा बरसात में त्वचा का ख़याल रखना पड़ता है because मानसून में कई तरह की स्किन प्रॉब्लम होने लगती है।

ऐसे में स्किन सम्बन्धी समस्या भी बढ़ जाती है। इस मौसम में मुहासे, त्वचा की खुजली, लाल दाग और जलन जैसी समस्या बरसाती चिपचिपाहट के कारण बढ़ जाती है। ऐसे में हमें अपनी स्किन का खास ख्याल रखने की जरुरत पड़ती है।

मानसून स्किन केयर | Monsoon skin care Hindi
Image by Sasin Tipchai from Pixabay

बरसात में होने वाली स्किन प्रॉब्लम ( Skin problems in monsoon )-

मानसून का सबसे ज्यादा असर हमारे शरीर पर पडता है। आम तरु पर बरसात के दिनों में स्वच्छ सम्बन्धी परेशानियां बढ़ जाती हैं। एक तरफ जहाँ तेज़ धुप और गर्मी से परेशान लोगो को बारिश की ठंडी फुहारों का आनंद मिलता है but दूसरी तरफ स्किन में दाग खुजली आदि का सामना करना पड़ता है।

मानसून में होने वाली परेशानियों का इलाज ( Monsoon skin care Hindi Me )-

अगर आप बारिश में भीगते हैं। तो त्वचा पर लाल दाने, रैशेज़ , जलन आदि हो जाती है। ऐसे में आप अपनी त्वचा को सूखा रक्खें। यदि आप भीग भी जाते हैं तो अपनी त्वचा को अच्छी तरह सूखा लें।

इसे भी पढ़ें –निम्बू की पतियों के फायदे | nimbu ki patti ke fayde

मानसून में मुहासों की समस्या (Monsoon me Acne ka ilaj )-

बारिश के दिनों में मुहासों की समस्या भी काफी बढ़ जाती है। हमें अपनी त्वचा की काम से काम 2 बार क्लीन्ज़र से सफाई करनी चाहिए। जिससे त्वचा के रोम छिद्र खुले रहेंगे। साथ ही ओटमील और पपीते का स्क्रब भी हमें करना चाहिए।

मानसून में ब्लैकहेड्स (blackheads problem in monsoon )-

https://amzn.to/2Y7g4VDमानसून में ज्यादा उमस के कारण काफी पसीना निकलता है so इसकारण त्वचा के सरे पोर्स खुल जाते हैं। और उसमे गन्दगी भरती रहती है। इसलिए ब्लैकहेड्स की समस्या काफी बढ़ जाती है। ऐसे में आपको त्वचा की सफाई रखनी काफी जरुरी है। आपको स्क्रब का भी काफी प्रयोग करना चाहिए। तथा 1 चम्मच पानी में लेवेंडर आयल की 10 बूँद दाल कर चेहरे पर लगाएं।

बरसात में फंगल इन्फेक्शन (Fungal Infection During Monsoon)-

इस मौसम में नमी के कारण फंगल इन्फेक्शन की समस्या काफी आम हो जाती है। बारिश से भीगने के कारण या गीले कपडे या गीले जूते पहनने के कारन भी ये समस्या देखने को मिलती है। इस लिए ड्राईनेस का विशेष ध्यान रक्खें।

इसे भी पढ़ें – Besan ka face pack banane ki vidhi | बेसन के 2 आसान फेसपैक बनाने का तरीका

त्वचा को मानसून में हेल्दी रकने के लिए टिप्स ( Monsoon skin care tips Hindi)

इस मौसम में अपनी त्ववचा को सुरक्षित और हेल्दी रखने के कुछ टिप्स हम आपको बताने जा रहे हैं। जिसकी सहायता से आप बरसात के मौसम के त्वचा का ख्याल रख सकेंगे।

1 .अगर आप बारिश में भीग गए हैं। तो अच्छी तरह से से अपनी त्वचा सूखा लें। और किसी अच्छे मॉइश्चराइजर का प्रयोग जरूर करें।

इसे भी पढ़ें – zero Calorie वाले ये फ़ूड करते हैं वेट लॉस में मदद

2 बारिश के मौसम में कई बार अपने चेहरे की सफाई करनी चाहिए। इसके लिए आप फेस वाश का प्रयोग कर सकते हैं। और रात में एंटीबैक्टेरियल टोनर antibacterial toner का भी प्रयोग जरूर से करना चाहिए।

3 बरसात के मौसम में हमें अपने शरीर की अंदरूनी सफाई भी करनी चाहिए। यानि अपने शरीर को डेटॉक्स भी करना चाहिए इसलिए। खूब पानी पीते रहें।

Monsoon skin care Hindi detox

4 मानसून में त्वचा को एक्सफोलिएट करते रहना चाहिए because ओपन पोर्स के कारण मुहासे होने लगते हैं।

5 बालों का झड़ना बरसात में आम समस्या है। पर अगर आपने इसपर ध्यान न दिया तो ये समस्या बढ़ सकती है। इसीलिए हर 2 दिन में आपको बालों में शैम्पू करना चाहिए। और बरसात के मौसम में तेल का प्रयोग hair oiling in monsoon भी काम ही करें।

6. बारिस के मौसम में त्वचा में फंगल इन्फेक्शन होने लगता है। इसीलिए अपनी त्वचा हमेशा सूखी रक्खें। और यदि अगर barish me fungal infection होने लगे तो anti-fungal powder का प्रयोग जरूर करें।

इसे भी पढ़ें – मुल्तानी मिट्टी के 5 फायदे | जानिए त्वचा के लिए मुल्तानी मिट्टी के जबरदस्त फायदें

फेसपैक मानसून के लिए ( face pack for monsoon )-

बरसात के मौसम के त्वचा का काफी ख़याल रखना पड़ता है because मानसून में चेहरा काफी चिपचिपा हो जाता है। जिससे आपके चेहरे का ग्लो काम हो जाता है and open pores की प्रॉब्लम भी शुरू हो जाती है।

तो यहाँ हम आपको Monsoon skin care hindi me बताने जा रहे हैं। ऐसे 5 फेसपैक जिससे जिससे आपके चेहरे पर आएगा बेहतरीन निखार।

1. मुल्तानी मिटटी फेसपैक (lacto calamine face pack)-

बरसात के मौसम की लिए मुल्तानी मिटटी का फेसपैक अमृत के सामान होता है but खासतौर पर जिनकी ऑयली स्किन हैं उन्हें तो इसका प्रयोग जरूर करना चाहिए।

आप मुल्तानी मिटटी यहाँ से खरीद सकते हैं।

इसे भी पढ़ें – हर्बल टी पीने के इतने सारे फायदे

1 चम्मच मुल्तानी मिटटी , कुछ बूँदें गुलाब जल की और निम्बू के रस को मिला कर पेस्ट बनायें और चेहरे को हलके गरम पानी से धो लें। अब इस पैक को चेहरे पर अच्छी तरह लगा लें। 15 मिनट तक इसे ऐसे ही लगा रहने दें और धो लें। आपके चेहरे पर काफी निखार आ जायेगा।

2. पुदीने और केले का फेस पैक (mint and banana facepack )

मानसून में फल का फेसपैक काफी अच्छा रहता है। इसके लिए 1/4 केला लेना है। और इसको मसल कर पेस्ट बना लें। 1 मुट्ठी पुदीने की पत्तियों को भी पीस लें। इसमें कुछ बूँदें गुलाब जल मिला कर चेहरे पर लगाएं। और 15 मिनट बाद धो लें। आपका चेहरा काफी क्लीन हो जायेगा।

3. चन्दन का फेसपैक (sandalwood facepack )

आप चन्दन पाउडर यहाँ से खरीद सकते हैं।

चन्दन का फेसपैक बनाने के लिए 1 चम्मच फेसपैक में कुछ बूँद गुलाब जल की मिलाएं। थोड़ा पानी मिला कर चेहरे पर लगा लें और 15 मिनट बाद धो लें। आपकी स्किन स्मूथ और ग्लोइंग हो जाएगी।

इसे भी पढ़ें –एलोवेरा (घृतकुमारी ) से रोकिये बालों का झड़ना, त्वचा होगी ग्लोइंग, और मोटापा होगा कम

4. बेसन और हल्दी का फेसपैक (besan aur haldi ka facepack)

इसे बनाने के लिए 2 चम्मच बेसन में 1 चुटकी हल्दी मिला लें। और इसमें गुलाब जल डाल कर एक पेस्ट बना लें पैक को15 मिनटके लिए चेहरे पर लगाएं। फिर सादे पानी से धो लें। बरसात के मौसम में ये फेस पैक काफी रहत देता है।

5. एलोवेरा फेसपैक (aloe vera facepack )

इसे बनाने के लिए आपको एलोवेरा पल्प चाहिए but आप चाहें तो बाजार में मिलने वाला एलोवेरा जेल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। या एलोवेरा की पत्ती तोड़कर उसमे से पल्प निकाल लें।

अब इसमें 1 चम्मच बेसन और कुछ बूँद निम्बू के रस डालकर पेस्ट बना लें। इस पैक को 15 मिनट चेहरे पर लगाएं और फिर धो लें।

मानसून में क्या न करें (monsoon me kya nahi khana chahiye)-

हैवी आयल न लगाएं

बारिश के मौसम में नारियल का तेल, अरंड का तेल नहीं लगाना चाहिए। ये तेल चिपचिपाहट करते हैं और त्वचा के रोम छिद्र बंद कर देते हैं so ऐसे में टी ट्री आयल का इस्तेमाल करना सबसे प्रभावी माना गया है।

आर्टिफिशल ज्वेलरी न पहने (don’t wear artificial jewelry)

बरसात के मौसम में आर्टिफिशल ज्वेलरी नमी के कारण जलन पैदा कर सकती हैं। और इससे इन्फेक्शन होने का खतरा रहता है।

भी धूप की तेज हान‍िकारक किरणे आपके चेहरे को नुकसान पहुंचा सकती है। इसल‍िए अच्‍छे एसपीएफ वाला सनस्‍क्रीन जरुर यूज करें।और बेवजह भीगने से बचें।

इसे भी पढ़ें –गिलोय के फायदे और सेवन विधि | Giloy ke fayde & use